पोषण माह के तहत आंगनबाड़ी केन्द्रों पर योग शिविर आयोजित

लखनऊ : जिले के आंगनबाड़ी केन्द्रों पर पोषण माह के तहत विभिन्न गतिविधियाँ आयोजित की जा रहीं हैं। पोषण माह (एक से 30 सितम्बर) के हर सप्ताह की अलग-अलग थीम है। माह के दूसरे सप्ताह में योग थीम पर बच्चों, किशोरियों और गर्भवती को जहाँ योग के महत्व के बारे में बताया गया वहीँ विभिन्न योगासनों के द्वारा लोगों को स्वस्थ रखने के बारे में बताया गया। यह जानकारी जिला कार्यक्रम अधिकारी अखिलेन्द्र दुबे ने दी। बक्शी का तालाब ब्लाक के पलका और बसहा आंगनबाड़ी केन्द्रों पर योग शिविर का आयोजन किया गया। बसहा आंगनबाड़ी केंद्र पर दीपा श्रीवास्तव और आंगनबाड़ी केंद्र पलका पर शशि त्रिपाठी द्वारा योग शिविर का आयोजन किया गया। इस दौरान योग शिक्षकों ने योग आसन कराये और उन आसनों का शरीर पर क्या प्रभाव पड़ता है के बारे में भी बताया।

इस मौके पर बाल विकास परियोजना अधिकारी जय प्रताप सिंह ने बताया- कोरोना काल में योग का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने और फेफड़ों को मजबूत करने में योग ने अहम् भूमिका अदा की है। कोरोना से ठीक होने के बाद भी योग के जरिये लोगों की शारीरिक और मानसिक समस्याओं को दूर करने का प्रयास किया जा रहा है। सुपरवाइजर अमिता त्रिपाठी ने बताया कि योग से शरीर तो स्वस्थ रहता ही है, मन भी शांत रहता है और हम मानसिक रूप से मजबूत होते हैं। सभी आयु वर्ग के लोग इसका लाभ उठा सकते हैं। सुपरवाइजर ज्योति सिंह ने वर्तमान जीवन शैली में योग की सार्थकता पर चर्चा की। शिक्षा विभाग के एआरपी अनुराग सिंह राठौर ने बताया-वर्तमान की भागदौड़ भरी जिंदगी में योग की अहम् भूमिका है। योग को अपनाकर कई रोगों से छुटकारा पाया जा सकता है। इस मौके पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका, बड़ी संख्या में महिलाएं, किशोरियाँ और बच्चे मौजूद रहे।

Related Articles