Uncategorized

सुविधा संपन्न राज्यों से कोरोना के खिलाफ लड़ाई में उत्तर प्रदेश काफी बेहतर

महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में कम आबादी के बावजूद यूपी की तुलना में पॉजिटिव केसों की संख्या ज्यादा और जांचें भी कम

लखनऊ। महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश जैसे सुविधा संपन्न राज्यों से कोरोना के खिलाफ लड़ाई में उत्तर प्रदेश की स्थिति काफी बेहतर है। इन राज्यों में उत्तर प्रदेश से काफी कम आबादी होने के बावजूद पॉजिटिव केसों की संख्या ज्यादा है और जांचें भी कम की गई हैं। जबकि इन राज्यों की तुलना में देश में सबसे अधिक जांचें करने के बावजूद उत्तर प्रदेश में न सिर्फ संक्रमण कम है, बल्कि पॉजिटिव केसों की संख्या भी कम है।स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक महाराष्ट्र, केरल और कर्नाटक की तुलना में उत्तर प्रदेश में पॉजिटिव केसों की संख्या मात्र 10.86 लाख है। वहीं, महाराष्ट्र में 42.95 लाख, केरल में 14.05 लाख और कर्नाटक में 13.39 लाख पॉजिटिव केस हैं। अगर इन राज्यों की आबादी पर गौर किया जाए, तो यहां उत्तर प्रदेश के हिसाब से काफी कम आबादी है। इसके बावजूद उत्तर प्रदेश कोरोना की लड़ाई तेजी से लड़ रहा है। उत्तर प्रदेश आबादी के हिसाब से देश का सबसे बड़ा राज्य है। इसकी आबादी करीब 24 करोड़ है। वहीं, महाराष्ट्र की 12 करोड़, केरल की करीब साढ़े तीन करोड़ और कर्नाटक की आबादी करीब आठ करोड़ है।

सबसे अधिक जांच करके यूपी ने बनाया रिकार्ड

सिर्फ टेस्टिंग की बात करें, तो भी उत्तर प्रदेश कई राज्यों से आगे है। उत्तर प्रदेश में प्रतिदिन टेस्टिंग की क्षमता को तेजी से बढ़ाया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग रोजाना दो लाख से ज्यादा लोगों की टेस्टिंग कर रहा है। प्रदेश में अब तक कुल चार करोड़ से अधिक सैम्पल की जांच की गई है। इसमें पिछले 24 घंटे में लगभग 94,000 सैम्पलों की जांच आरटीपीसीआर के माध्यम से की गई है। जबकि देश की राजधानी दिल्ली में 1.70 करोड़, महाराष्ट्र में 2.60 करोड़ और कर्नाटक में 2.50 करोड़ टेस्ट किए गए हैं।

महाराष्ट्र में औसतन मृत्यु दर 513.96, तो यूपी में 47.51

महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश से अगर उत्तर प्रदेश में औसतन मृत्यु दर का तुलनात्मक अध्ययन किया जाए, तो प्रदेश में औसत मृत्यु दर प्रति 10 लाख आबादी पर मात्र 47.51 मौतें हैं। जबकि महाराष्ट्र में प्रति 10 लाख की आबादी पर औसतन मृत्यु 513.96, कर्नाटक में 206.08, तमिलनाडु में 173.80, दिल्ली में 459.61 और आंध्रप्रदेश में 83.82 है।

पिछले पांच दिनों में प्रदेश का रिकवरी रेट भी बढ़ा

बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए प्रदेश सरकार लगातार सख्त कदम उठा रही है। पिछले पांच दिनों में प्रदेश का रिकवरी रेट भी बढ़ रहा है। पिछले 24 घंटों में प्रदेश में करीब 30 हजार 398 लोग ठीक हुए हैं, जो दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। मुख्यमंत्री योगी के कड़े और बड़े फैसलों का ही नतीजा है कि उत्तर प्रदेश पहले से बेहतर तरीकों के साथ कोरोना की जंग लड़ रहा है।

Related Articles