CM योगी ने अन्त्योदय राशन कार्डधारकों को प्रदान किया आयुष्मान कार्ड

कोविड पर प्रकाशित पुस्तक का भी किया विमोचन

लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ ने मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान के अन्तर्गत हाल ही में जोडे़ गये अन्त्योदय राशन कार्ड लाभार्थियों को आयुष्मान कार्ड प्रदान कर योजना का विधिवत शुभारम्भ किया । लोकभवन स्थित सभागार में आयोजित कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कोविड संकट के दौरान कुशल कोविड प्रबंधन पर आधारित एक पुस्तक का भी विमोचन किया गया। गौरतलब है आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का शुभारंभ आज से लगभग तीन वर्ष पूर्व किया गया था जिसकी पात्रता सूची वर्ष 2011 की सामाजिक आर्थिक जनगणना पर आधारित थी एवं योजनान्तर्गत 1.18 करोड़ परिवारों को इस योजना के माध्यम से पॉच लाख रूपये तक की निःशुल्क स्वास्थ्य सुविधा का लाभ मिल रहा था। प्रदेश सरकार के संज्ञान में आया कि वर्ष 2011 की जनगणना की पात्रता सूची से लाखों परिवार किन्ही कारणों से वंचित रह गये हैं और उन्हें सरकार द्वारा गरीबों को 5 लाख तक का निःशुल्क इलाज देने वाली योजना का लाभ नही मिल पा रहा है। इन्ही विसंगतियों को समाप्त करने के उदेश्य से प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान का शुभारम्भ किया गया था।

प्रांरभ में पात्रता सूची से वंचित 8.43 लाख परिवारों को इस योजना में जोड़ा गया था। लेकिन जमीनी स्तर पर आवश्यकता को देखते हुए इसमें और भी जरूरतमंद परिवारों को समय समय पर जोड़े जाने की व्यवस्था की गयी। हाल ही में श्रम विभाग में पंजीकृत 11.65 लाख श्रमिक परिवारों को भी मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान की पात्रता सूची में सम्मिलित किया गया। इसी क्रम में प्रदेश सरकार की कैबिनेट द्वारा अन्त्योदय राशन कार्ड धारकों को भी मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान की पात्रता सूची में सम्मिलित करने का ऐतिहासिक निर्णय लिया गया। प्रारम्भ में जहां प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अन्तर्गत प्रदेश की केवल 24 फीसदी आबादी को स्वास्थ्य बीमा का लाभ मिल रहा था लेकिन ’मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान’ के लागू होने और अन्त्योदय परिवारो का नाम भी डाटा में जुड़ जाने से अब 13 प्रतिशत अतिरिक्त परिवारों को भी निःशुल्क स्वास्थ्य बीमा का लाभ मिलने लगा है। दोनो योजनाओं को मिलाकर अब प्रदेश की 37 फीसदी आबादी से भी अधिक आबादी सरकार द्वारा चलायी जा रही स्वास्थ्य बीमा के दायरे में आ गयी है जो कि प्रदेश सरकार के लिये एक बहुत बड़ी उपलब्धि है।

कार्यक्रम के दौरान प्रदेश सरकार द्वारा कोविड -19 से निपटने के लिए किए गए सराहनीय प्रयासों पर आधारित प्रो मणीन्द्र अग्रवाल आई आई टी कानपुर की पुस्तक का विमोचन भी मुख्यमंत्री ने किया। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए नीति आयोग के सदस्य विनोद पाल ने बताया कि अन्त्योदय लाभार्थियों एवं अन्य श्रेणी के लाभार्थियों हेतु योगी सरकार द्वारा लागू मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान एक अभूतपूर्व कदम है और इससे स्वास्थ्य के क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव आएंगे । अगर लाभार्थियों की बात करें तो अब तक प्रदेश में कुल पात्र परिवारों के 46 फीसदी (लगभग 58 लाख परिवारों के 1 करोड 59 लाख सदस्यों ) परिवारों को आयुष्मान कार्ड जारी किया जा चुका है। योजनान्तर्गत प्रदेश में अब तक 8 लाख 57 हजार लाभार्थियों को निःशुल्क इलाज का लाभ दिया गया है, जिसके सापेक्ष 913 करोड़ की धनराशि का भुगतान सम्बन्धित चिकित्सालयों को किया जा चुका है।

कार्यक्रम में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्य मंत्री अतुल गर्ग सदस्य नीति आयोग, डा0 विनोद पॉल, मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी, अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, उत्तर प्रदेश शासन अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव, सूचना नवनीत सहगल, प्रमुख सचिव, खाद्य एवं रसद, आई0आई0टी0 कानपुर के प्रोफेसर डा0 मणीन्द्र अग्रवाल, मुख्य कार्यपालक अधिकारी साचीज, संगीता सिंह के अतिरिक्त स्वास्थ्य विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे।

Related Articles