मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया जनसंख्या स्थितरा पखवाड़ा का शुभारंभ

लखनऊ। जनसंख्या स्थितरा पखवाड़ा का सीएम योगी आदित्यनाथ ने शुभारंभ किया। इसके साथ ही कोविड-19 की जांच के लिए नवसृजित मंडलीय प्रयोगशालाओं का लोकार्पण भी किया। सीएम योगी ने विश्व जनसंख्या दिवस पर कार्यक्रम का शुभारंभ करने के बाद सभा को संबोधित किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि आज के दौर में हम लोग बेहद चुनौती झेल रहे हैं। कोविड-19 संक्रमण के साथ ही बरसात के मौसम में संचारी रोग भी बढ़ने की संभावना है।

कोविड-19 के संक्रमण के प्रचार पर अंकुश लगाने के साथ हमको अब बरसात जनित यानी संचारी रोग को रोकना है। कोविड-19 के कारण ही हमने प्रदेश में दो दिन लॉकडाउन का कदम उठाया है। इसके लिए भी हमने 11 व 12 जुलाई का समय लिया, इसमें सेकेंड सेटर डे व संडे को अवकाश रहता है। हम बिना अपने काम को प्रभावित किए इन दोनों दिन का समय सैनेटाइजेशन तथा बचाव के अन्य साधन अपनाने में करेंगे।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमको स्वस्थ समाज की स्थापना के लिए नए स्तर से प्रयास करने की जरूरत है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश पर देश व प्रदेश में अब काल,समय व परिस्थिति के अनुसार वरीयता तय की जा रही है। प्रदेश में हमने 18 मंडल में कोविड-19 की सुविधा प्रदान की है। भविष्य में हम हर जनपद में ट्रू नेट मशीन लगाकर जनपद वार कोविड का परीक्षण करेंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अब हर जिले में कोरोना की जांच के लिए एक लैब खोली जाएगी।

इस कोरोना आपदा के समय यूपी में बेहतर काम हुआ है और हम लोगों को स्वस्थ जीवन जीने के लिए जरूरी सुविधाएं देंगे। मृत्यु दर में कमी लाने का प्रयास होगा और यूपी का जनसंख्या घनत्व ज्यादा है इसलिए जन्म दर में कमी लाने के लिए लोगों को जागरूक किया जाएगा, इसके लिए भी विशेष अभियान शुरू किया जाएगा।

 

 

Related Articles