मुख्य समाचारराज्य

UP Budget 2021-22: योगी ने पेश किया इतिहास का सबसे बड़ा बजट, जानिए खास बातें…

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली भाजपा सरकार ने इस कार्यकाल का अंतिम पूर्ण बजट विधानसभा में पेश किया है। वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने यूपी के इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा 5,50,270 करोड़ रुपये का बजट पेश किया। बजट भाषण के बाद प्रेस कांफ्रेंस में सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने वित्‍त मंत्री को बधाई देते हुए कहा कि यह समग्र और समावेशी बजट है।

यह बजट युवाओं, किसानों व महिलाओं पर केंद्रित है। वहीं, वित्तमंत्री ने अयोध्‍या को चमकाने के लिए 140 करोड़ का ऐलान किया। इसके साथ ही कोरोना टीके के लिए भी 50 करोड़ का प्रावधान किया गया। वित्‍त मंत्री ने कहा कि राम मंदिर तक पहुंच मार्ग के लिए 300 करोड़ से अधिक राशि दी गई है। प्रदेश के कलाकारों को यूपी गौरव सम्मान दिया जाएगा।

इसके लिए 11 लाख रुपये की राशि दी जाएगी। सुरेश खन्ना ने ऐलान किया कि अयोध्या-वाराणसी में पर्यटन विकास के लिए 100-100 करोड़ रुपये दिए जाएंगे। वित्त मंत्री ने कहा कि जेवर एयरपोर्ट के पास एक इलेक्ट्रॉनिक सिटी बनाई जाएगी। प्रदेश में अलग-अलग जगहों पर आईटी पार्क बनाए जा रहे हैं। यूपी में कक्षा एक से आठ तक मुफ्त ड्रेस देने का काम किया जा रहा है।

उच्च शिक्षा क्षेत्र में महत्वपूर्ण एलान
हर मंडल में एक राज्य विश्वविद्यालय बनेगा।
26 जिलों में माडल राजकीय महाविद्यालयों के लिए 200 करोड़ की व्यवस्था।
लखनऊ में बनेगा जनजातीय संग्रहालय, इसके लिए 8 करोड़ की व्यवस्था।
छात्रों को प्रोत्साहित करने के लिए राज्य गौरव पुरस्कार दिए जाएंगे।

खादी और ग्रामोद्योग
मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के तहत सामान्य महिला एवं आरक्षित वर्ग के लाभार्थियों को दस लाख रुपये तक ब्याज रहित ऋण तथा सामान्य वर्ग के पुरुष लाभार्थियों को चार प्रतिशत वार्षिक ब्याज पर बैंकों के माध्यम से ऋण उपलब्ध कराने की व्यवस्था। माटीकला की परम्परागत कला एवं कारीगरों को संरक्षित-संवर्धित करने के लिए बजट में दस करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित।

सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग के लिए घोषणाएं
प्रदेश में एक जिला- एक उत्पाद योजना के लिए 250 करोड़ रुपये की घोषणा।
उत्तर प्रदेश स्टेट स्पिनिंग कंपनी की बंद पड़ी कताई मिलों की परिसंपत्तियों को पुनर्जीवित कर पीपीपी मोड में औद्योगिक पार्क/आस्थान/क्लस्टर स्थापित कराए जाने का निर्णय। इसके लिए 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था।
मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना के लिए 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था।
शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के पारंपरिक कारीगरों के लिए विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के लिए 30 करोड़ रुपये बजट की व्यवस्था।

यूपी में बढ़ेगी एयरपोर्ट की संख्या ​​​​​​​
उत्तर प्रदेश में ऑपरेशनल एयरपोर्ट्स की संख्या 4 से बढ़कर 7 हो गई। जनपद अयोध्या में निर्माणाधीन एयरपोर्ट का नाम मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम हवाई अड्डा अयोध्या होगा इस हेतु 101 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित। जेवर एयरपोर्ट में हवाई पट्टियों की संख्या दो से बढ़ाकर छह करने का निर्णय लिया गया है। इस परियोजना हेतु 2000 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित है। कुशीनगर एयरपोर्ट को केन्द्र सरकार द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट घोषित है। इस प्रकार राज्य में शीघ्र ही 4 अन्तर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट लखनऊ, वाराणसी, कुशीनगर व गौतमबुद्धनगर में होंगे। अलीगढ़, आजमगढ़, मुरादाबाद व श्रावस्ती एयरपोर्ट का विकास लगभग पूर्ण हो गया है तथा चित्रकूट तथा सोनभद्र एयरपोर्ट मार्च, 2021 तक पूर्ण होंगे।

 

 

Show More

Related Articles