देशमुख्य समाचारराज्यलाइफस्टाइललेखशिक्षा

हिन्दुस्तान बचाना है तो हिन्दी का सम्मान करो :ज्ञानी

हिन्दी दिवस पर विशेष

तुलसी सूर कबीर निराला की भाषा का ध्यान करो,
हिन्दुस्तान बचाना है तो हिन्दी का सम्मान करो।

 

बचपन में माॅ हमे सुलाती, लोरी गाकर हिन्दी में,
केशव ने जो लिखी पाती वो थी पाती हिन्दी मेंं।

लक्ष्मी बाई राणा ने जयघोष किया था हिन्दी में, रामचरित मानस तुलसी ने हमे दिया था हिन्दी में।

बंकिम चन्द टैगोर बनो और उठ करके जय गान करो
हिन्दुस्तान बचाना है तो हिन्दी का सम्मान करो।

 

राष्ट्र भक्ति के नाम मिले जो वो सम्मान तो हिन्दी है,
वीर शहीद हुए सीमा पर उनका नाम भी हिन्दी है।

आजाद भगत सिंह मंगल ने बलिदान दिया वो हिन्दी है
गांधी सुभाष और नेहरू ने जो काम किया वो हिन्दी है।

इन वीर बबर शेरों सा उठ करके तुम भी संधान करो
हिन्दुस्तान बचाना है तो हिन्दी का सम्मान करो।

एक धागे में पिरो सके जो ऐसी माला हिन्दी हो,
पीने वाला प्रभु गुन गाये वो मधुशाला हिन्दी हो।

आतंकी घुसने न पाये ऐसा ताला हिन्दी हो,
भारत मां की आन बचाये ऐसा भाला हिन्दी हो।

विश्व में हिन्दी ध्वज फहराये ये दिल मे अरमान भरो,
हिन्दुस्तान बचाना है तो हिन्दी का सम्मान करो।

कृष्ण कुमार पांडेय “ज्ञानी”

Show More

Related Articles