Uncategorized

BHU में बिना जरुरत के प्लाज्मा चढ़ाने पर वृद्ध मरीज की मौत, हंगामा

कांग्रेस का एक प्रतिनिधि मंडल अस्पताल में मृतक के परिजनों से मिला

वाराणसी। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के सर सुंदर लाल चिकित्सालय के आईसीयू में बिना जरुरत के प्लाज्मा चढ़ाने पर वृद्ध मरीज रमेश सिंह (65) की रविवार को मौत हो गई। मरीज के मौत से नाराज परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया। मामले की जानकारी होने पर कांग्रेस के नेताओं का एक प्रतिनिधि मंडल पूर्व विधायक अजय राय के नेतृत्व में अस्पताल में पहुंचा और मृतक के परिजनों से मिलकर संवेदना जताई। पूर्व विधायक ने कहा कि बीएचयू अस्पताल में अब लगातार लापरवाही सामने आ रही है। प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर स्थानीय जनप्रतिनिधियों की उदासीनता अब जनता के सामने है। शहर में कोई भी जिम्मेदार अधिकारी या जनप्रतिनिधि अपने कर्तव्य के प्रति सजग नहीं है। पूर्व विधायक ने घटना की निंदा कर सरकार से न्यायोचित कार्यवाही की मांग की।

फूलपुर थाना क्षेत्र के मंगारी निवासी रमेश सिंह (65) की तबियत बिगड़ने पर परिजनों ने 25 मार्च को उन्हें बीएचयू अस्पताल में भर्ती कराया था। यहां आईसीयू में बेड नंबर 4 पर उनका इलाज चल रहा था। मरीज के बेटे अजय सिंह ने बताया कि पिताजी की सेहत में सुधार हो रहा था और डॉक्टरो ने उन्हें वार्ड में शिफ्ट करने को कहा था। बीते 2 अप्रैल को जब वह आईसीयू में पिताजी को देखने गए तो वहां उन्हें प्लाज्मा चढ़ाया जा रहा था, जबकि उन्हें इसकी आवश्यकता नहीं थी। प्लाज्मा चढ़ाने के बाद पिताजी की हालत बिगड़ गई और उनकी मृत्यु हो गई। अजय सिंह ने इस पूरे प्रकरण से अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक,पिंडरा के भाजपा विधायक डॉ अवधेश सिंह और लंका थाना प्रभारी को अवगत कराया। विधायक और थाना प्रभारी अस्पताल में जाकर परिजनों से मिले थे और पूरे मामले की जानकारी ली। मामला सुर्खियों में आते ही अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ.एस.के. माथुर ने शनिवार को पूरे मामले की जांच के लिए जांच समिति का गठन कर दिया। समिति 72 घंटे के भीतर अपनी रिपोर्ट सौंपेंगी।

Show More

Related Articles